Sunday, June 17, 2012

सच पूछो तो अच्छा सा लगा !




तेरा मेरे पास आना 
पास आके यूँ मुस्कराना 
सच पूछो तो अच्छा सा लगा !
                                                          
                                                            एक टक बस मुझे देखते रहना
                                                            देखकर मन ही मन मुस्कराना !
                                                            सच पूछो तो अच्छा सा लगा !
बिना कुछ बोले घंटों तक बैठे रहना 
मेरे बालों में तेरी उंगलिओं का फेरना !
सच पूछो तो अच्छा सा लगा !



           खामोश सी नज़रों से कुछ इशारे करना

         कुछ ना कहकर भी सब बोल जाना 
        सच पूछो तो अच्छा सा लगा !

वो ग़ज़ल मेरे चेहरे की  
वो नगमे मेरी बातों की 
सच पूछो तो अच्छा सा लगा !


                                                         
                                                          वो तेरा हँसना और मुझे भी हँसाना 
                                                          मुझे रुलाकर फिर हंसके मानना
                                                          सच पूछो तो अच्छा सा लगा !
                                                                                                       -विधू यादव 



3 comments:

  1. एक निवेदन
    कृपया निम्नानुसार कमेंट बॉक्स मे से वर्ड वैरिफिकेशन को हटा लें।
    इससे आपके पाठकों को कमेन्ट देते समय असुविधा नहीं होगी।
    Login-Dashboard-settings-posts and comments-show word verification (NO)

    अधिक जानकारी के लिए कृपया निम्न वीडियो देखें-
    http://www.youtube.com/watch?v=VPb9XTuompc

    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  2. thanks..i have changed my blog verification setting....also thanks for this..

    ReplyDelete